डाउनलोड पी.डी.एफ. ई-बुक्स
CF - What is RAM

RAM ये computer का अविभाज्य घटक है | RAM ये Random Access Memory का संक्षिप्त रूप है | RAM ये CPU की internal memory है, जो data को या program(sequences of instructions) को store करने के लिए computer पर इस्तेमाल की जाती है |


RAM पर volatile memory होती है मतलब जब आप Computer system बंद कर देंगे तब आपके RAM में store हुआ सभी data; erase किया जायेगा | RAM पर store हुआ data ये temporary(अल्पसमय) store होता है | जबतक computer चालू होता है तबतक ये RAM work करता है |

RAM को main memory, primary memory, system memory या random access memory(RAM) भी कहा जाता है | ये hardware device; computer को संग्रहित या प्राप्त करने की अनुमति देता है |

अगर आप computer के RAM को बढ़ा देंगे तो CPU का processing time को घटा सकते हो, इससे आपके CPU का speed भी बढ़ जायेगा क्योंकि RAM की memory ये cache memory को छोडके सभी memories से तेज होती है |


Types of RAM in Hindi

Computer के उन्नति के अनुसार RAM के अलग-अलग हिस्से किय गए है | इनमे DIMM, RIMM, SIMM, SO-DIMM और SOO-RIMM ये अलग-अलग हिस्से है |

निचे picture में 1GB DIMM RAM दिखाई गयी है | ये RAM आपको किसी भी computer के motherboard पर आसानी से मिल जाएगी | इस RAM को motherboard के memory slot में install किया जाता है |


मुख्यतः RAM को दो भागों में बाँटा गया है |

  • SRAM(Static SRAM)
  • DRAM(Dynamic RAM)

RAM के प्रकारों को बेहतर से जानने के लिए यहाँ click करे |


History of RAM in Hindi

RAM की पद्धति सबसे पहले Freddie Williams द्वारा निर्माण किये हुए Williams tube में इस्तेमाल की गयी थी | ये elelectrically charged spots के रूप में data को CRT(cathode ray tube) के face पर store किया जाता था |

इस Williams tube की capacity केवल कुछ हजारों bits के आस-पास थी | लेकिन ये बहुत ही smaller, faster और शक्तिशाली था | इसे England के University of Manchester में बनाया गया था | उसके बाद इस Williams tube को Small-Scale Experimental Machine(SSEM) computer पर electronically stored-memory program के तौर पर store किया गया और 21 June 1948 में computer को successfully run किया गया |